सोमवार, 1 अक्तूबर 2012

गैहू के जवारा का रस

गैहू ज्वारा रस [ गैहू जूस ] = आप ने देखा होगा बरसात के दिनों में चारों तरफ हरियाली होती तो नजर देखने में जो आनंद आता वो किसी मौसम में नही आता ,हरी घास ,हरी दूब को देखकर उस के उपर लोटने को दिल करता है . वैसे ही गैहू के जवारे यानि अंकुरित गैहू के बाद में चार अंगुल कि वृर्दी को ज्वारा के रूप में काम लिया जाता है .यह सभी प्रकार की बीमारियों में चमत्कार कार्य करता है .गैहू के जवारे का रस पिने से मानव शरीर का विष को बाहर  निकाल देता है जिस से शरीर रोग मुक्त हो जाता है , त्वचा ,वृक्क ,आते ,फेफड़े ,अम्लपित ,और यकृत में छिपा विष को त्वचा के पसीने से , आंतो के मल से और वृक्क से पेशाब द्वुआरा बाहर निकाल देता है .इस में सभी प्रकार के विटामिन पाए जाते है एवं क्लोरोफिल नामक तत्व होने से इस को वनस्पति का हरा रक्त भी कहते है .09829085951                                            अन्कुरित गेहू के जवारे 
  
Sprouted Wheat 

8 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत महत्वपुर्ण लेख सरजी।आभार।
    मै अल्सरेटीव कोलाइटीस (बङी आंत के अंतिम सिरे पर घाव व अल्सर) है ।पिछले 5 सालो से ।पतले दस्त खुन और आंव युक्त आते है, दीन मे 4 बार !एलोपेथी से इलाज चल रहा है पर स्थाई हल नही है।बार बार आंतो मे सुजन आ जाती है और ऱक्त आना चालु हो जाता है जो स्टेरोइड दवा 3 माह लेने से बंद हो जाता है और फिर कुछ महीनो मे शुरू हो जाता है इस दवा से अनेक साईड इफेक्ट हुए है और कमजोरी आ गई है।।डाक्टर बोले जिवन भर दवाई खाओ।मेरी उम्र 32 वर्ष वजन 49 kg है।प्राकृतिक इलाज व अपक्क अन्न से केंसर भी ठिक हुए हैएसा सुना है।कोई उचित परामर्श दे ।आपका आभारी रहुँगा।

    उत्तर देंहटाएं
  2. श्री मान रवि शर्मा जी
    आप ठीक हो सकते हैं ,पहले अपनी चिंता छोडिये तथा तनाव मुक्त रहे .सुबह-सुबह गेहू के जवारे का रस लें. जवारे आसानी से घर पर उगाये जा सकते है. हल्का भोजन ले, फाइबर वाले भोजन को त्यागे जैसे जो, मेथी, चना या चने के बने उत्पाद नमकीन ,कड़ी ,पकोडे, समोसा, कचोरी,मिर्च-मसाला, खट्टे आहार को पूर्णतया बंद कर दे .पहरेज आवश्यक हैं. ताजा गिलोय रस दोपहर में लें एक बार दिन में १५ दिन बाद सम्पर्क करे

    उत्तर देंहटाएं
  3. Mujhe abhi do saal se hyperacidity rehti hai sa . . . doctor ne endoscopy ki to h pylori bacteria ka infection hai . . mujhe antibiotics pasand nahi hai maine neem ka sevan shuru kiya tha ussey thoda faida hai but puri tarike se nahi . . . ye juice lene ke soch raha hu hkm

    उत्तर देंहटाएं

  4. राजावत साहब, अपनी चिंता छोड़े और अनुशासन हीनता के शिकार नही बने . अम्लीय, फाइबर वाले भोजन को त्यागे जैसे जो, मेथी, चना या चने के बने उत्पाद नमकीन ,कड़ी ,पकोडे, समोसा, कचोरी,मिर्च-मसाला, खट्टे आहार को पूर्णतया बंद कर दे पदार्थो पर रोक लगाये . गिलोय सत्व 1/4 चम्मच पानी के साथ सुबह खाली पेट लें .आधा घंटे बाद गेहू के जवारे का रस सेवन करे 15 बाद सम्पर्क करे .

    उत्तर देंहटाएं
  5. नमस्कर सर जी मुझे थैरोइड हे में इससे बहुत परेशान हु मुझे कब्ज भी रहती हे पेशाब भी खुल कर नहीं आता हे पुरे पेट में दर्द रहता हे और खाना खाने के बाद जी मिचलाता हे कमर दर्द भी रहता चेहरे पर सुजन भी रहती पेट भी सुजन रहती हे कोई में गिलोय और गेहू जुस पी रहा हु

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. कब का निवारण अवश्य करे, गुर्दों की जांच कराए. उसके बाद ही उपचार बताया जा सकता हैं.

      हटाएं
  6. गुर्र्दो का सिटी स्केकेन और अल्ता साउंड करवाया था नार्मल हे kfd की जाच करवाई वो भी नार्मल आई हे में गिलोए का रस और गेंहू ज्वर पी रहा हु कोई रामवाड़ उपाय बताये थाईरैद की वजह से में बहुत परेशां रहता हु

    उत्तर देंहटाएं
  7. आप पित्त बनने वाले आहार को त्याग कर दे । तो पूरी तरह से ठीक हो सकते हैं ।

    उत्तर देंहटाएं